नवाब मलिक का NCB पर आरोप - 'सेलेक्टिव मीडिया को बुला खबरें प्लांट करता है NCB'

महाराष्ट्र के मंत्री ने कहा, "मैंने जब भारती सिंह और दूसरे कई बॉलीवुड से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाया थे, तभी NCB ने कुछ न्यूज़ मीडिया वालों को कहा था आगे-आगे देखना क्या होता है?"

नवाब मलिक का NCB पर आरोप - 'सेलेक्टिव मीडिया को बुला खबरें प्लांट करता है NCB'
नवाब मलिक का NCB पर आरोप - 'सेलेक्टिव मीडिया को बुला खबरें प्लांट करता है NCB'

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी (NCP) नेता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने मुंबई में आज (गुरुवार, 14 अक्टूबर) को फिर से एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) पर फर्जीवाड़ा करने और जानबूझकर लोगों को ड्रग्स केस में फंसाने का आरोप लगाया है। नवाब मलिक ने कहा कि जब उन्होंने पिछली प्रेस कॉन्फ्रेन्स में आर्यन खान के मामले में मनीष भानुशाली और किरण गोसावी का खुलासा किआ और NCB पर सवाल खड़े किए थे तो लोगों ने उनके दामाद को लेकर सवाल पूछने शुरू कर दिए थे।

महाराष्ट्र के मंत्री ने कहा, "तब मैंने कहा था कि कानून अपना काम करेगा लेकिन बीजेपी के नेता कह रहे थे कि नवाब मलिक का दामाद समीर खान ड्रग डीलर है। NCB ने उस पर कार्रवाई की है, इसलिए नवाब मलिक NCB पर सवाल उठा रहे हैं।"

मलिक ने उस बारे में कहा, "27 सितंबर को समीर खान, करण सजनानी और राहिला फर्नीचर की जमानत हुई लेकिन वह आदेश कल अपलोड हुआ। समीर को NCB की वजह से साढ़े 8 महीने जेल में रहना पड़ा, बदनामी हुई. उनके दिमाग पर असर हुआ है।  किसी से मिल नहीं रहे हैं."

अपने दामाद की गिरफ्तारी पर मलिक ने कहा कि कानपुर में छापा डाला गया लेकिन NCB के जरिये ये खबरें सबसे पहले कुछ मीडिया हाउसेज को पता चली।  उन्होंने कहा, "मैं बताना चाहता हूं कि 13 फरवरी को एक पत्रकार साथी का सुबह फोन आया कि आपके दामाद को NCB का कोई समन आया है क्या? मैंने कहा था उसे क्यों समन देंगे। अगर ऐसा है तो गलत है। लेकिन 12 तारीख की रात में ही समीर खान को समन दे दिया गया था और 13 की सुबह पहले से घर पर मीडिया कैमरे लगा दिए गए थे। फिर उसी शाम खबर आयी कि मामले में 27A लगाया गया है और समीर खान को गिरफ्तार कर लिया गया है।"

एनसीपी नेता ने आरोप लगाया कि NCB ने साढ़े तीन महीने तक समीर की जमानत की अर्जी पर अदालतों में सिर्फ टालमटोल किया लेकिन आखिरकार जमानत मिल ही गई। उन्होंने कहा, "कल जो ऑर्डर लोड किया गया है, उसमें 2 पैराग्राफ में साफ लिखा है कि जो दावा किया जा रहा था कि 200 ग्राम गांजा है, वह कोई गांजा नहीं था।

मलिक ने कहा, "14 फरवरी को मेरे दामाद के घर  NCB दफ़्तर के कुछ लोग गये थे। दोपहर तक सर्च ऑपरेशन चल रहा था। सारे चैनलों पर चल रहा था कि बड़े पैमाने पर गांजा बरामद हुआ है जबकि कुछ नहीं मिला। तब भी सिलेक्टिव मीडिया को बुलाकर खबरें प्लांट की जा रही थी।" उन्होंने कहा, "मेरा आरोप है कि पूरा फर्जीवाड़ा किया गया। खबर को बड़ी करने के लिए गरीब फर्नीचरवाला बहनों को दिया मिर्जा की सेक्रेटरी बताकर खबर को सनसनी बनाया गया।"

नवाब मलिक ने तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि ये 9 तारीख की तस्वीरें हैं जो NCB के दफ्तर की है जबकि जप्ती के मौके पर पंचनामा किया जाता है। जब हमने NCB से पूछा तो उनके वकील ने कहा कि मीडिया ने जबरदस्ती घुसकर तस्वीरें ली हैं।

एनसीपी नेता ने कहा कि उनके वकील तैयारी कर रहे हैं और जल्दी ही अदालत में मामला खारिज करने के लिए अपील करेंगे। उन्होंने शरद पवार का आभार जताते हुए कहा कि जब मामला आया तो उन्होंने साफ कहा कि अगर दामाद गलत है तो उसे सजा मिलेगी. दामाद की सजा ससुर को नहीं दी जा सकती है।

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मालिक ने कहा, "मैंने जब भारती सिंह और दूसरे कई बॉलीवुड से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाया था, तभी NCB ने कुछ न्यूज़ मीडिया वालों को कहा था आगे-आगे देखना क्या होता है?" उन्होंने आरोप लगाया कि जब से उन्होंने बॉलीवुड स्टार शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान के मामले में प्रेस कांफ्रेंस की है, तब से दफ़्तर में फोन पर धमकी आ रही है कि उड़ा देंगे। मलिक ने कहा कि मैं इसकी लिखित शिकायत करूँगा। इस बीच उन्हें वाई प्लस कैटगरी की सुरक्षा भी दे दी गई है।