नफरत जीत गई, कलाकार हार गया - मेरा काम हो गया, अलविदा - स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारुक़ी

इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए मुनव्वर फ़ारूक़ी ने कहा कि उन्होंने बेंगलुरु कार्यक्रम के लिए 600 से अधिक टिकट बेचे थे, लेकिन "बर्बरता की धमकी" के कारण शो को रद्द कर दिया गया है।

नफरत जीत गई, कलाकार हार गया - मेरा काम हो गया, अलविदा - स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारुक़ी
शो रद्द होने के बाद इंस्टाग्राम पोस्ट में मुनव्वर फ़ारूक़ी ने कहा,

दक्षिणपंथी समूहों की धमकियों के कारण पिछले दो महीनों में लगभग 12 शो रद्द होने के बाद स्टैंडप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी (Standup Comedian Munawar Faruqui) ने आज संकेत दिया कि वह अब और शो नहीं करेंगे। आज भी बेंगलुरु में उनका एक शो होना था जिसे बेंगलुरु पुलिस (Bengaluru Police) के हस्तक्षेप के बाद रद्द कर दिया गया। पुलिस ने लॉ एंड ऑर्डर की समस्या की हवाला देकर शो के आयोजकों से शो को रद्द करने को कहा था।

इतना ही नहीं, बेंगलुरु पुलिस ने आयोजकों को लिखी चिट्ठी में मुनव्वर फ़ारूक़ी को 'विवादित शख्स' भी लिखा है। इसी साल के शुरुआत में मध्य प्रदेश में एक शो में हिन्दू देवी देवताओं पर कथित टिप्पणी की वजह से फ़ारूक़ी को करीब महीने भर तक जेल में रहना पड़ा था। बाद में हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद उनकी रिहाई हो गयी थी। 

अपने शो के रद्द होने के बाद आज दोपहर एक इंस्टाग्राम पोस्ट में  मुनव्वर फ़ारूक़ी ने कहा, "नफ़रत जीत गई, कलाकार हार गया। मेरा काम हो गया, अलविदा.."

हालांकि, उनके कुछ प्रशंसकों ने उनसे शो बंद न करने का अनुरोध किया है और इसके साथ ही संगीतकार मयूर जुमानी ने पोस्ट करते हुए कहा कि, "नहीं, आप छोड़ नहीं रहे हैं। हम आपको ऐसा नहीं करने देंगे।"

आयोजक गुड शेफर्ड ऑडिटोरियम को लिखे एक पत्र में, बेंगलुरु पुलिस ने फ़ारूक़ी के शो "डोंगरी टू नोव्हेयर" का उल्लेख किया और कहा कि वह एक "विवादास्पद व्यक्ति" हैं। बेंगलुरु में हिंदू जागरण समिति के मोहन गौड़ा ने भी कहा कि वे मुनव्वर फ़ारूक़ी के इस शो को आयोजित नहीं होने देंगे। 

इसके बाद, इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए मुनव्वर फ़ारूक़ी ने कहा कि उन्होंने बेंगलुरु कार्यक्रम के लिए 600 से अधिक टिकट बेचे थे, लेकिन "बर्बरता की धमकी" के कारण शो को रद्द कर दिया गया है।

मुनव्वर फ़ारूक़ी ने लिखा, "आज बेंगलुरु शो कैंसिल हो गया (स्थल पर तोड़फोड़ की धमकी मिलने के कारण) हमने 600 से  अधिक टिकट बेचे थे। एक महीने पहले मेरी टीम ने दिवंगत पुनीत राजकुमार सर के संगठन को चैरिटी के लिए बुलाया था, उस चैरिटी को हम इस शो से जेनरेट करने जा रहे थे।

हास्य अभिनेता ने लंबे इंस्टाग्राम पोस्ट में कहा, "मजाक के लिए मुझे जेल में डाला गया लेकिन मैंने अपना शो कभी रद्द नहीं किया। इसमें कुछ भी समस्या नहीं थी। यह अनुचित है। इस शो को भी भारत में धर्म से परे जाकर लोगों का प्यार मिला है। क्या यह अनुचित है। हमारे पास शो का सेंसर सर्टिफिकेट भी है और शो में स्पष्ट रूप से कोई समस्या नहीं थी। हमने पिछले दो महीनों में 12 शो आयोजन स्थल और दर्शकों की धमकी के कारण रद्द किए हैं।"

उन्होंने लिखा, "... मुझे लगता है कि यह अंत है। मेरा नाम मुनव्वर फ़ारुक़ी है और यह मेरा समय है। आप लोग अद्भुत दर्शक रहे हैं। अलविदा, मेरा काम हो गया।"

आपको बता दे की इस महीने की शुरुआत में फारूकी ने एक न्यूज़ चैनल को बताया था कि उनके कंटेंट में कुछ भी समस्या नहीं है। उन्होंने कहा था कि ड्राइवर, वालंटियर और गार्ड सहित 80 लोग एक शो से रोजी-रोटी कमाते हैं। आगे कहा, 'मैं कभी-कभी सोचता था कि शायद मैं गलत हूं, लेकिन जो हुआ उसके बाद मैं समझ गया कि कुछ लोग इसका राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं।